व्यवसायी के लाल ने किया कमाल, आईएएस बन पिता के सपनों को किया साकार।

जमुई
जनादेश न्यूज जमुई
जमुई (संजय मंडल) झारखंड , देवघर निवासी रजीव जैन ने सफलता का झंडा गाड़ते हुए जिला वाणिज्य कर विभाग में सहायक आयुक्त के पद पर पदस्थापित एवं यूपीएससी में नौवां स्थान प्राप्त कर जहां अपनी उत्कृष्ट प्रतिभा को परिभाषित किया है।वहीं अपने व्यवसायी पिता अशोक कुमार जैन एवं अपनी गृहणी माता मंगला जैन के सपने को साकार किया है।डीएम धर्मेंद्र कुमार की उपस्थिति में जमुई समाहरणालय स्थित जिला पदाधिकारी के कार्यालय प्रकोष्ठ में राजीव जैन ने संवाद स्थापित करते हुए कहा कि मुझे अपने आप पर पूर्ण भरोसा था कि ऑल इंडिया में ” वन टू टेन ” रैंक में रहूंगा। उन्होंने अपनी अद्भुत सफलता का श्रेय माता , पिता , बहन , मित्र , जमुई जिला के पदाधिकारी और कर्मियों को देते हुए कहा कि आज सभी गौरवांनवित और हर्षित हैं।उन्होने कहा कि मैं हमेशा आईएएस अधिकारी बनना चाहता था , परिणाम आने पर आज मुझे अच्छा लग रहा है।श्री जैन ने कहा कि पदस्थापन के बाद वे किसानों एवं महिलाओं की बेहतरी के साथ गरीबों के उत्थान के लिए काम करना चाहेंगे। साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि मैंने आईएएस के लिए प्रदेश कैडर के रूप में अपने गृह राज्य झारखंड को चयनित किया है। मुझे खुशी है कि मुझे अपने राज्य के लिए काम करने का अवसर मिलेगा। बताते चलें कि रजीव जैन 10 वीं तक कि पढ़ाई सेंट फ्रांसिस स्कूल देवघर से की। उन्होंने 12 वीं तक की शिक्षा दिल्ली स्थित एक प्रतिष्ठित स्कूल से पूरी की। बाद में श्री जैन दिल्ली विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की। कालक्रम में उन्होंने बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की परीक्षा पास की और जनवरी 2020 में सरकारी सेवक के रूप में जमुई जिला वाणिज्य कर विभाग में बतौर सहायक आयुक्त के पद पर पदस्थापित हुए।वे वर्त्तमान में अविवाहित हैं। श्री जैन परिवार में तीन बड़ी बहन के बाद इकलौते भाई हैं। उन्हेंने माता – पिता के साथ बहन का भरपूर प्यार और स्नेह मिलने का भी जिक्र किया।पत्रकारों से बातचीत के दरम्यान जिला पदाधिकारी धर्मेंद्र कुमार ने श्री जैन को मिठाई खिलाकर उनके स्वर्णिम भविष्य की कामना की।मौके पर डीएफओ सत्यजीत कुमार , प्रशिक्षु डीएफओ भरत चिंता पल्ली , संयुक्त आयुक्त प्रमोद कुमार , सहायक आयुक्त विक्की कुमार , रानी कुमारी आदि जन भी इस मौके के साक्ष्य बने।