रोहिणी के बाद अब मृगशिरा नक्षत्र भी बरसा रहा आग,जून में तापमान का पिछले चार वर्ष का टूटा रिकॉर्ड 

नवादा

जनादेश न्यूज़ नेटवर्क

मनोज कुमार

रजौली (नवादा) प्रखंड क्षेत्र में इन दिनों भीषण गर्मी के सितम ने जन-जीवन के अस्त-व्यस्त कर दिया है।पहले रोहिणी नक्षत्र ने आसमान से आग बरसायी और अब मृगशीरा नक्षत्र का आगाज भी प्रचंड प्रचंड गर्मी से हुआ है।बदन जलाती धूप के साथ उमस भरी गर्मी का सितम लगातार बढ़ता जा रहा है।प्रचंड गर्मी चार साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया।मंगलवार को अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस पर जा पहुंचा है।न्यूनतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस तक है।पूरे दिन सूर्य देव के तल्ख तेवर और उमस भरी गर्मी के कारण लोगों का मिजाज किरकिरा हो गया है।मौसम विभाग ने अगले कई दिनों तक तीखी गर्मी का अलर्ट जारी किया है।मंगलवार की सुबह 9 बजे से ही हालात इस कदर बिगड़ गया की तापमान 43 डिग्री तक जा पहुंचा और लोग घरों में ही दुबके रहे हैं।दोपहर के वक्त बाजार और सड़क सुनसान दिखीं। ऐसा लगा मानो जैसे रजौली शहर में कर्फ्यू लगा हो। लगातार आसमान से आग बरसाने से जन-जीवन पर इसका व्यापक असर देखा जा रहा है।लगातार पड़ रही गर्मी तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रही है।हर परिवार में एक दो लोग मौसम जनित बीमारी से परेशान है।अनुमंडलिय अस्पताल रजौली के चिकित्सक डॉ सतीश चंद्र सिन्हा ने बताया कि अभी सबसे अधिक सर दर्द,लूज मोशन,त्वचा रोग और बुखार से पीड़ित मरीज जा रहे हैं।हर दूसरा आदमी कमजोर होने की बात बता रहा है।चिकित्सक ने बताया कि कमजोरी और बीपी लो होने का कारण अधिक पसीना होना है। पसीना होने से शरीर में नमक की कमी हो जाती है।ऐसे में बचाव के लिए नमक पानी या ओआरएस के घोल का सेवन इन दिनों में सबको करना चाहिए।