रतनपुर पंचायत में पीडीएस डीलर पर गुस्साए प्रवासी मजदूरों ने अधिकारियों से की हेराफेरी की शिकायत।

जमुई
जनादेश न्यूज़ जमुई
गिद्धौर (अजित कुमार यादव)कोरोना महामारी में लॉकडाउन के बीच पीडीएस दुकानदारों की मनमानी जारी है जबकि संकट की इस घड़ी में कई सामाजिक कार्यकर्ता राहत सामग्री निशुल्क वितरण कर रहे हैं तो दूसरी तरफ लोग गिद्धौर प्रखंड के जन वितरण प्रणाली के दुकानदारों के मनमाने रवैए से परेशान हैं दर्जनों प्रवासी मजदूरों ने विभागीय अधिकारियों एवं जिलाधिकारी से शिकायत की है, प्रखंड क्षेत्र के रतनपुर पंचायत के पीडीएस डीलर संतोष कुमार केसरी के खिलाफ शैलेश कुमार सहित दर्जनों प्रवासी मजदूरों ने प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी गिद्धौर को डाक के माध्यम से आवेदन देकर शिकायत की है आवेदन में प्रवासी मजदूरों ने आरोप लगाया है कि हमलोग प्रवासी मजदूर हैं, हम लोगों के लिए सरकार के द्वारा 3 महीने की राशन डीलर के द्वारा मुफ्त देने की व्यवस्था की गई है लेकिन जन वितरण प्रणाली के विक्रेता संतोष कुमार केसरी के द्वारा मात्र एक महीने का ही राशन वितरण किया गया जो प्रवासी मजदूरों के साथ खिलवाड़ किया गया वहीं जब हमारे द्वारा डीलर से पूछा गया तो वो बताते हैं कि अभी आवंटन नहीं हुआ है जब इसका हम लोगों ने विरोध किया तो बोले जहां जाना है जा सकते हो हमारा कोई कुछ बिगाड़ नहीं सकता है जिसके बाद पीडीएस दुकानदार के इस व्यवहार से परेशान होकर गिद्धौर एमओ, एसडीओ जमुई, जिलाधिकारी जमुई से गुहार लगाई है। प्रवासी मजदूरों में शैलेश कुमार,प्रकाश रावत, रोहित कुमार साह, जितेंद्र कुमार मोदी, राजीव कुमार सिंह, विजय कुमार रावत, बबन गुप्ता, टुनटुन साह, धीरज कुमार, धर्मेंद्र कुमार साह सहित अन्य लोगों के हस्ताक्षर युक्त आवेदन डाक के माध्यम से अधिकारियों को दिया गया है। अधिकारी से आवेदन देकर जांच कर, कार्रवाई करने की मांग की गई है। बता दें कि केंद्र सरकार ने प्रवासी मजदूरों को 5-5 किलो गेहूं या चावल एवं प्रति परिवार पर एक किलो चना मुफ्त देने का ऐलान किया इसका फायदा उन मजदूरों को होगा जो राष्ट्रीय खाद सुरक्षा के दायरे में नहीं आते हैं या जिनके पास राशन कार्ड नहीं है।