यौन प्रजनन तंत्र संक्रमण, स्वास्थ्य एवं अधिकार पर एक दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित।

जमुई
जनादेश न्यूज़ जमुई
सिकन्दरा (प्रवीण कुमार दुबे) सिकंदरा प्रखंड के दक्षिणी क्षेत्र में स्वयंसेवी संस्था परिवार विकास/चाइल्ड फंड इंडिया के तत्वावधान में प्रजनन तंत्र संक्रमण से बचाव हेतु कार्य क्षेत्र के किशोर किशोरियों को प्रशिक्षण दिया गया। कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए संस्थान के सामाजिक कार्यकर्ता रामवृक्ष महतो ने कहा कि आप सभी किशोर किशोरी देश के भविष्य हैं। सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थान की योजना है कि आने वाली नई पीढ़ी को प्रजनन तंत्र संक्रमण के कारण और बचाव की जानकारी देकर ही प्रजनन संक्रमण पर काबू पा सकते हैं। नई पीढ़ी जागरूक होंगे तो प्रजनन तंत्र संक्रमण में कमी आएगी। प्रजनन तंत्र संक्रमण के दो कारण है । एक कारण है कि प्रजनन तंत्र अंगों की साफ-सफाई एवं बचाव का तरीका नहीं अपनाना तथा दूसरा है असुरक्षित यौन संबंध।आज बहुत संख्या में महिलाएं एवं पुरूष धाध, लिकोरिया,गनौरिया, सिफलिश एवं बांझपन का शिकार है। इससेे शारीरिक कमजोरी, मानसिक तनाव के अलावे ईलाज के खर्च से परेशान हैं। एक स्वस्थ मां ही स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सकती है। इसलिए आप सभी जो आज सीखेगें आप अपने पास पड़ोस के सभी साथी को बताऐंगे। तभी आज का प्रशिक्षण साकार होगा। मौके पर स्वास्थ्य समन्वयक उपेन्द्र यादव ने असुरक्षित यौन संबंध से होने वाले नुक़सान प्रजनन तंत्र संक्रमण, एचआईवी एड्स जैसे जानलेवा बिमारी के बारे में बताते हुए कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में जानकारी ही बचाव है। सुरक्षित यौन संबंध से अनचाहे गर्भ और संक्रमण से बचा जा सकता है। शादी से पूर्व आज के युवाओं को परिवार नियोजन की जानकारी रखना अनिवार्य है। शादी से पूर्व आपकी योजना हो कि आप कैसा परिवार रखेंगे। परिवार नियोजन के क्या क्या तरीका है स्थायी और अस्थायी के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। तत्पश्चात रानी सिंह ने बताया कि खासकर लड़कियों को शौच के समय और नहाते समय प्रजनन तंत्र अंगों की साफ-सफाई पर बिशेष ध्यान देने की जरूरत है। तथा मासिक धर्म के समय साफ सुती कपड़े या नेपकिन , सेनेटरी पैड का उपयोग कर लड़कियां प्रजनन तंत्र संक्रमण से बच सकती है।यौन संबंधी समस्या रहने पर नर्स , डॉक्टर या स्वास्थ्य कार्यकर्ता से सलाह लें। मौके पर दर्जनों किशोर किशोरी में इसरत खातुन, तब्बू खातुन, धर्मेंद्र कुमार विकास कुमार काजल कुमारी उपस्थित थे।