मुख्य बाजार गिद्वौर में यत्र-तत्र पसरे कचरे के दुर्गंध से संक्रामक बीमारी का बढ़ा खतरा।

जमुई
जनादेश न्यूज जमुई
गिद्धौर(अजित कुमार यादव)प्रखंड मुख्यालय में महज कुछ ही दूरी पर गिद्धौर बाजार में यत्र-तत्र पसरा एवं जमा कचड़ो का ढेर तथा उनसे निकलने वाली दुर्गन्ध कई प्रकार के संक्रामक बीमारी को फैलाने का कारण बन गया है। बढ़ी आबादी के बावजूद बाजार में कचड़ा निष्पादन के लिए कोई व्यवस्था नही रहने के कारण बाजार कचड़ो के ढेर में तब्दील होते जा रहा है। और स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं प्रशासन मूकदर्शक बने हुए है। प्रशासन, स्वयंसेवी संगठन एवं जनप्रतिनिधियों द्धारा कई बार स्वच्छता अभियान के अंतर्गत साफ-सफाई शुरू किया गया। किन्तु सफाई अभियान सिर्फ दिखावा और फोटो खिंचवाने का माध्यम भर बन कर रह गया। बार-बार आहूत सफाई अभियान से न तो जनता जागरूक हुए और ना ही जनप्रतिनिधि तथा प्रशासन ही इस समस्या के प्रति जागरूक दिख रहा है। झाझा आटो स्टैंड मछली पट्टी,सब्जी बाजार,बजरंगबली चौक,जमुई रोड़,टावर चौक, बूढानाथ मंदिर के आसपास खुले में पसरे एवं जमा कचड़ो के ढेर से उठने वाली सडांध खासकर मुर्गा व मछली पट्टी के कारण राहगीरों एवं आसपास के दुकानदारों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आसपास के दुकानदार सड़ांध एवं कचड़ो से फैलनेवाली संक्रामक बीमारी के प्रसार से संशकित दिख रहे हैं। बीमारी का खतरा भी उत्पन्न हो गया है। दुर्गन्ध से बाजार वासियों को सांस लेने में भी परेशानी होता रहता है। गंदगी पर ब्लींचिग पाउडर का छिड़काव तक नही होता है। जिससे कई रोगों का खतरा उत्पन्न हो गया है। दुकानदारों ने बताया कि पंचायत के प्रतिनिधि एवं प्रशासन द्वारा यदि कचड़ो के स्थायी निष्पादन हेतू त्वरित उपाय नही किये जाते हैं तो वे लोग इस समस्या की ओर ध्यान दिलवाने तथा स्थायी समाधान की व्यवस्था के लिए आंदोलन पर विचार करेगें। फिलहाल इस गंदगी से स्थानीय दुकानदार परेशान है।