मां बेटी सम्मेलन में किशोरी स्वास्थ्य देखभाल पर चर्चा का किया गया आयोजन।

जमुई
जनादेश न्यूज जमुई
गिद्धौर (अजित कुमार)जिले के स्वयंसेवी संस्था परिवार विकास के द्वारा चाइल्ड फंड इंडिया के सहयोग से चंद्रशेखर नगर में मां बेटी परिचर्चा का आयोजन किया गया। जिसमें किशोर किशोरी स्वास्थ्य की देखभाल को लेकर परिचर्चा की गई।इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गिद्धौर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी अजिमा निशांत ने कहा कि किशोरावस्था में होने वाले बदलावों पर ध्यान देने की जरूरत है। क्योंकि इसी अवस्था में एक स्वास्थ्य मांँ के द्वारा स्वास्थ शिशु को जन्म देने की प्रक्रिया प्रारंभ होती है,उन्होंने महावारी के दौरान खुद की स्वच्छता एवं खानपान में संतुलित भोजन लेने का सुझाव दिया। साथ ही उन्होंने गर्भावस्था का लिंग परीक्षण कर गर्भ में बेटी को मारने की प्रथा पर रोक लगाने की अपील की। वहीं संस्था सचिव भावानंद जी ने कहा कि मां और बेटी का संबंध मित्रवत हो और बेटी अपनी मां से खुलकर अपनी बात एवं समस्याओं को रखें। क्योंकि बेटी की देखरेख मां से अच्छा कोई भी नहीं कर सकता है। कार्यक्रम में समाजसेवी आनंदिता शर्मा ने कहा कि यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य पर मां बेटी के बीच खुलकर बात होनी चाहिए। ऐसा नहीं होने पर किशोरियां आगे चलकर गंदगी जनित बीमारियों से ग्रसित हो जाएगी। उन्होंने सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों पर मिल रहे सुविधाओं एवं परामर्श की भी जानकारी उपस्थित किशोर किशोरियों को दी। जबकि आंगनबाड़ी सेविका श्वेता कुमारी ने किशोरियों को 6 माह में ही सुई आयरन की गोली लेने की सलाह दि। जबकि संस्था स्वास्थ्य समन्वयक उपेंद्र यादव ने किशोर किशोरियों एवं मां को जानकारी देते हुए बताया कि योन एवं प्रजनन स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। किशोरावस्था में होने वाले बदलावों पर आवश्यक रूप से ध्यान देने की और महावारी स्वच्छता संतुलित आहार एवं दैनिक आदि आदतों पर ध्यान देने की जरूरत है।इस मौके पर गुगुलडीह,सेवा एवं पूर्वी गुगुलडीह से आई किशोर किशोरियों ने भी अपनी समस्याओं को रखा। जिसमें मौसम कुमारी,अर्चना कुमारी आदि ने अपनी समस्याओं को रखा। इस मौके पर संस्था के कृष्णदेव मंडल,कपिलदेव यादव,राजेश कुमार, प्रमोद कुमार,मुक्ति रानी के अलावे दर्जनों लोग मौजूद थे।