पत्नेश्वर धाम में नहीं लगा मेला, कारोबारीयों में छाई मायूसी।

जमुई
जनादेश न्यूज जमुई
बरहट ( शशि लाल ) मकर संक्रांति के दूसरे दिन प्रखंड स्थित पत्नेश्वर धाम मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पूजा-अर्चना करने पहुंचे। हालांकि कोरोना गाइडलाइन के तहत मंदिर का मुख्य द्वार बंद था। श्रद्धालु क्यूल नदी में स्नान कर मंदिर के मुख्य द्वार पर जल अर्पित कर पूजा अर्चना की।वहीं मंदिर बंद रहने के कारण श्रद्धालू भगवान शिव पर जल अर्पित नही कर पाए।पूजा अर्चना करने पहुंचे श्रद्धालुओं में काफी मायूसी दिखी।बता दें की मकर संक्रांति के दूसरे दिन रत्नेश्वर धाम मंदिर में बड़ी संख्या में दूर दराज के श्रद्धालु व ग्रामीण पूजा अर्चना करने पहुंचते हैं।वहीं क्यूल नदी के तट पर अगल- बगल के गांव से आए पहलवान दंगल भी लड़ते हैं। जिसको लेकर मेले जैसा नजारा दिखता है। वहीं चाट र्चौमिन, सिंगार एवं अन्य व्यंजनों की दुकान तो सज गई थी। लेकिन दोपहर में बढ़ते भीड़ को देख मलयपुर थाना के एसआई मो अफजल्लु हक, प्रखंड कृषि पदाधिकारी विजय कुमार ने भीड़ को खदेड़ कर भगा दिया।