नीतीश सरकार ने बिल्ली को ही सौंप दी दूध की रखवाली!

पटना
जनादेश न्यूज़ पटना
पटना. वर्ष 1975 के बाद पहली बार पटना में ऐसा जलजमाव हुआ जिसने राजधानी का जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया. शहर में सबकुछ दुरुस्त किए जाने के दावों के बीच ऐसा क्यों हुआ अब सरकार इसकी जांच करवाएगी. मिली जानकारी के अनुसार 15 दिनों के अंदर दोषियों पर कार्रवाई सुनिश्चित करने की तैयारी है. हालांकि इसके लिए जो जांच टीम बनाई गई है उस पर सवाल खड़े हो रहे हैं. दरअसल जांच टीम में वही लोग हैं जो पटना में भारी जलजमाव के लिए जिम्मेदार माने जा रहे हैं.
दरअसल जनता का आरोप है कि पटना नगर निगम और बुडको की लापरवाही की वजह से जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हुई है. वहीं, नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश शर्मा ने गुरुवार को जलजमाव की जांच के लिए जो तीन सदस्यीय समिति गठित की है उसमें समिति का अध्यक्ष विभाग के विशेष सचिव संजय कुमार को बनाया गया है जबकि सदस्य के रूप में बुडको के एमडी अमरेंद्र कुमार सिंह और पटना नगर निगम के आयुक्त अमित पांडे को जांच की जिम्मेदारी दी गई है….