जिलाधिकारी ने वीडियों कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी प्रखंडों में कोरोना जांच स्थिति की समीक्षा की।

जमुई
जनादेश न्यूज़ जमुई
जमुई (अजीत कुमार/ संजय कुमार ) जिला समाहरणालय के एन आई सी कक्ष से जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार ने सभी प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद स्थापित कर कोरोना जांच की स्थिति की समीक्षा की। वीडियो कांफ्रेंसिंग में सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी,सभी अंचलाधिकारी,सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र उपस्थित थे। जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार ने सभी बीडीओ,सीओ एवं सभी पीएचसी केन्द्र प्रभारी को निर्देश दिया कि दिए गए टारगेट के अनुसार कोरोना की जांच सुनिश्चित किया जाए। यदि कोई व्यक्ति सेंटर पर नहीं आता है तो जांच टीम घर पर जाकर भी जांच करें। टारगेट के अनुरूप जांच अवश्य होनी चाहिए इसमें शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि पूरे जिले में प्रतिदिन कम से कम 700 टेस्ट होने चाहिए। उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि अबिलंब जांच से संबंधित आवश्यक सामग्री प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि जांच हेतु व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए ताकि लोगों के बीच जांच व्यवस्था से संबंधित सभी जानकारियां उपलब्ध हो सके। जांच रिपोर्ट उसी दिन विभागीय पोर्टल पर अपलोड किया जाए। होम क्वारेंटाइन में रहने वाले कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति का नियमित देख रेख किया जाए, यदि किसी व्यक्ति को किसी प्रकार का लक्षण यथा सर्दी बुखार सांस लेने में परेशानी हो तो उन्हें अविलंब कोविड केयर सेंटर में भेजा जाए ताकि उनका बेहतर इलाज हो सके। उन्होंने सभी प्रभारी पदाधिकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को निर्देश दिया कि एक कर्मी को प्रति नियुक्त किया जाय। जो होम क्वारेंटाइन में रहने वाले व्यक्तियों को फोन से संपर्क करे तथा एक रजिस्टर मेनटेन करे। उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया कंटेनमेंट जोन का निर्धारण गाइडलाइन के अनुसार किया जाय।साथ ही साथ मास्क का उपयोग एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना सुनिश्चित किया जाए। इस वीडियो कांफ्रेंसिंग में जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार के साथ सिविल सर्जन डा0 विजेन्द्र कुमार सत्यार्थी,डीपीआरओ संतोष कुमार,डीपीएम सुधांशु नारायण लाल,वरीय उप समाहर्त्ता सह आपदा पदाधिकारी भारती राज मौजूद थे।