छठ पर्व को लेकर बाजार में खरीददारी करते लोग।

जमुई
जनादेश न्यूज जमुई
गिद्धौर (अजित कुमार)लोक आस्था व सूर्य उपासना का महापर्व छठ पूजा की तैयारी छठ व्रतियों द्वारा जारी है।नहाय खाय के साथ शुरू हुए इस छठ पर्व पर छठ मैया की आराधना को ले प्रखंड क्षेत्र के श्रधालुओं द्वारा फल,फूल, नारियल,सुप,सुपती,डलिया की खरीददारी को लेकर बाजार में काफी चहल पहल देखी जा रही है। क्षेत्र के लोग पर्व की तैयारी को लेकर बाजार में जरूरी पूजन सामग्री की खरीददारी करते देखे जा रहे हैं। बताते चलें कोरोना महामारी को लेकर एक तरफ जहां लोगों में संक्रमण का डर बना हुआ है तो वहीं दूसरी ओर लोक आस्था के इस महापर्व पर कोरोना से इतर छठ व्रती महिलाओं एवं पुरुषों में पूजा को लेकर उत्साह देखा जा रहा है। पर्व को लेकर बाजारों में रौनक एक बार फिर लौट आयी है।जबकि छठ पूजा में काम आने वाली पूजन सामग्री की कीमत में पिछले वर्षों की तुलना इस वर्ष भी काफी बृद्धि हुई है। लेकिन, महापर्व के प्रति छठ व्रतियों की भगवान भास्कर के प्रति आस्था महंगाई पर भारी पड़ रही है। पर्व को लेकर छठ में केला,सेब,अन्नास पानीफल,बताशा,पान सुपाड़ी,धूप अगरबत्ती,कपड़े आदि की बिक्री के लिए दुकान में लोगों की भीड़ लगी हुई है।सोमवार को नहाय खाय के साथ शुरू हुए लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व छठ के दूसरे दिन मंगलवार को छठ व्रती महिलाएं खरना को लेकर प्रसाद बनाने में जुटी हुई हैं। देर संध्या खरना सम्पन्न होने के उपरांत लोग खरना का प्रसाद ग्रहण करेंगे। त्योहार को लेकर परिवार में महिला एवं बच्चों में काफी उत्साह है, वहीं छठ पर्व पर महिलाओं द्वारा गाये जाने वाले पारंपरिक लोक गीतों से वातावरण आध्यात्मिक रूप से भक्तिमय हो गया है। चार दिनों तक चलनेवाला यह महापर्व छठ नहाय खाय से शुरू होकर अस्ताचलगामी सूर्य को अर्ध्य देने के उपरांत दूसरे दिन उगते हुए सूर्य भगवान को अर्घ्य अर्पण करने के साथ संपन्न होगा। वहीं ग्रामीण स्तर पर गांव टोलों में बूढ़े जवान या युवा सभी पर्व को लेकर साफ सफाई में जूटे हुए हैं। वहीं ग्रामीणों द्वारा गठित गिद्धौर के दूर्गा मंदिर एवं कलाली घाट पर छठ पूजा समिति द्वारा इस बार भी पंडाल एवं आकर्षक सजावट के साथ छठ पर्व पर भगवान भास्कर की प्रतिमा स्थापित कर भगवान सूर्यनारायण की उपासना की जा रही है।