गाँधी जयंती के मौके पर मंजूषा कला पेंटिंग से निर्मित वस्तुओं का लगाया प्रदर्शनी, लोगों ने जमकर किया खरीदारी

मुंगेर
जनादेश न्यूज़ मुंगेर
मुंगेर (गौरव मिश्रा) : अनुमंडल प्रशासन के नेतृत्व में चल रहे 15 दिवसीय निशुल्क मंजूषा पेंटिंग कला का समापन बुधवार को किया गया।
कार्यक्रम समापन के पूर्व मंजूषाकला से जुड़ी प्रशिक्षणार्थियों के द्वारा निर्मित वस्तुओं की प्रदर्शनी अनुमंडल परिसर में अनुमंडल प्रशासन के नेतृत्व में लगाई गई।
लगाई गई प्रदर्शनी का उद्घाटन मुख्य अतिथि परिवार न्यायालय मुंगेर कोट के जज परशुराम सिंह यादव ने फीता काटकर किया।
मौके पर उपस्थित अनुमंडल पदाधिकारी उपेंद्र सिंह,डीसीएलआर मो०इस्तियाक अली अंसारी,रजिस्टार सत्यप्रकाश अनंत कार्यक्रम के संयोजक एसडीपीओ रमेश कुमार,पुलिस निरीक्षक रतनेश जमादार, थानाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार,विधिज्ञ संघ के पूर्व अध्यक्ष हरे कृष्ण वर्मा समाजसेवी चंदर सिंह राकेश,निरंजन झा,अफजल हौदा,शंभु शरण चौधरी,गाजीपुर मुखिया प्रतिनिधि पप्पु खान,बिरेंदर कुमार कुशवाहा के अलावे सैकड़ो लोगों ने प्रदर्शनी में लगाये गये वस्तुओं को देखा व पसंद आये वस्तुओं को बोली लगाकर खरीद किया।
प्रदर्शनी में प्रशिक्षुओं के द्वारा बनाये गये महात्मा गाँधी की तस्वीर आकर्षण का केंद्र रहा।
प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली प्रशिक्षणार्थियों ने अनुमंडल प्रशासन का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा की इस तरह का अनुमंडल प्रशासन के द्वारा महिलाओं को सबल बनाने के उद्देश्य से दिया गया मंजूषा प्रशिक्षण का जितना तारीफ किया जाए वह कम है।
वहीं एसडीपीओ रमेश कुमार ने कहा की इस तरह के कार्यक्रम से जहाँ महिलाओं का आत्मबल ऊँचा होता है।वहीं पुलिस प्रशासन के साथ एक मैत्री मधुर संबंध स्थापित होता है।लोगों में पुलिस प्रशासन के ऊपर एक विश्वास स्थापित होता है।
प्रशिक्षण दे रहे मंजूषा गुरू मनोज पंडित ने कहा की प्रशिक्षणार्थियों ने काफी कम समय में मंजूषाकला को बेहतर तरीके से सीखने का काम किया है।जो काबिले तारीफ है।कला से जुड़े लोग काफी नरम स्वभाव के और मिलनसार होते हैं।मौके पर मंजूषा कला प्रशिक्षण केंद्र भागलपुर की प्राचार्य सुमना सागर,प्रशिक्षक कविता, काजल व अमन सागर ने भी प्रशिक्षण से संबंधित बातों को रखा।