आसमान से बरस रहे आग के गोले, राहत के आसार नहीं

नवादा

जनादेश न्यूज़ नेटवर्क

रजौली (नवादा) प्रखंड क्षेत्र में इन दिनों जारी तल्ख धूप,तेज गर्मी व उमस ने बेहाल कर दिया है।गर्मी और उमस के कारण पसीने से तरबतर लोग दिन भर राहत पाने के लिए छांव की तलाश करते दिख रहे हैं। सुबह से ही हो रही तेज व चिलचिलाती धूप देर शाम तक लोगों को झुलसाने के लिए बेताब है।जबकि गर्म हवाओं के थपेड़ों संग आसमान से बरस रही आग ने झुलसा दिया है।गर्मी इस कदर पड़ रही है कि मौसम विभाग ने जिले में येलो अलर्ट तक जारी कर दिया है. इधर,लगातार तापमान में भी वृद्ध हो रही है।सोमवार को रजौली में अधिकतम तापमान 44.2 डिग्री है न्यूनतम तापमान सहित 37 डिग्री सेल्सियस तक रहा है।गया मौसम विभाग के वैज्ञानिक एसके पटेल ने कहा कि तापमान में अभी और वृद्धि होगी।मंगलवार को पारा अधिक बढ़ने की उम्मीद है।ऐसे में ऐसा लग रहा है जैसे आसमान से आग का गोला बरस रहा है।इसके कारण जनजीवन अस्त व्यस्त दिख रहा है। लोग बहुत जरूरी काम से ही घर से निकल रहे हैं।वहीं दूसरी ओर जिनके घर में कोई प्रोग्राम है उन्हें मजबूरी बस मार्केटिंग के लिए घर से बाहर जाना पड़ रहा है।तकरीबन एक सप्ताह से पारा लगातार उछाल पर है।पारे के तेजी से चढ़ने से लोगों की परेशानियों में लगातार इजाफा होता जा रहा है।गर्मी उमस के कारण लोगों को हलफ सूख रहे हैं।लोग हलक तर करने के लिए छटपटा रहे हैं।ठंडे पेय पदार्थों से लोग हलफ तर करने में लगे हैं।मौसमी फलों जैसे खीरा, ककड़ी,तरबूज,बेल के साथ ही गन्ने के रस की मांग बढ़ गयी है।गर्मियों से संबंधित बीमारियों से लगातार इजाफा देखा जा रहा है।गर्मी और उमस का असर रजौली के बाजार पर भी दिख रहा है।

क्या कहते हैं,चिकित्सक 

अनुमंडलीय अस्पताल रजौली प्रभारी उपाधीक्षक डॉक्टर दिलीप कुमार ने कहा कि गर्मी के दिनों में एहतियात बरतना जरूरी है।थोड़ी सी असावधानी से परेशानियां बढ़ सकती है।गर्मी में धूप में घर से निकलना जरूरी हो तो कपड़े से पूरा शरीर ढक कर और छतरी का प्रयोग करें।गर्मी से अनेक तरह की बीमारियां होती हैं। कोई परेशानी होने पर चिकित्सक से संपर्क करें।इससे तनिक भी लापरवाही नहीं बरते नहीं परेशानी बढ़ सकती है।